There was an error in this gadget

Thursday, December 17, 2009

dil ki baat

हूँ में जिन्दा तेरे लिए
तू माने  या न माने
मेरे जीवन की सांस
बस तेरे लिए
आह भरे तो तड़फे दिल मेरा
वाह करे तो धड़के  दिल मेरा
बस कर कुछ न कुछ मेरे लिए
कि धड़कन मेरे दिल की तेरे दिल से चले .................

No comments:

Post a Comment