There was an error in this gadget

Wednesday, April 10, 2013

विश्व पटल पर फिर से चमके माँ भारत


युगाब्द 5115 सम्वत 2070
चैत्र शुक्ल प्रतिपदा


!!! सुस्वागतम नववर्ष !!!

करे नववर्ष का अभिनन्दन
करे नववर्ष की नई  शुरुआत
उगते सूरज से
नया होगा उजियारा
कोंपल नई  खिलेगी
आशा की नई किरण चमकेगी

करे नववर्ष का अभिनन्दन
करे नववर्ष की नई  शुरुआत

नई  उमंग,तरंग से भरे जीवन अपना
नई  ऊर्जा से भरे जीवन अपना
नई  चाह से चहके जीवन अपना
नई राह की डगर चले जीवन अपना

करे नववर्ष का अभिनन्दन
करे नववर्ष की नई  शुरुआत

ले संकल्प राष्ट्र धर्मं का
ले प्रण राष्ट्र रक्षा का
संस्कृति की रक्षा धर्म हो
ऐसा अब अपना प्रण हो

करे नववर्ष का अभिनन्दन
करे नववर्ष की नई शुरुआत

नये नभ में हो नया गर्जन
अब तो हो एक नया परिवर्तन
नयी शक्ति का नव संचार हो
रक्त में हमारे राष्ट्रधर्म का संचार हो

करे नववर्ष का अभिनन्दन
करे नववर्ष की नई शुरुआत

दृढ मन की बाहें फैलाकर
राष्ट्र प्रेम का गीत गुनगुनाकर
ले फिर से प्रण कि 
विश्व पटल पर फिर से चमके  माँ भारत

No comments:

Post a Comment