There was an error in this gadget

Thursday, July 14, 2011

मुंबई धमाका - फिर किया राहुल बाबा ने धमाका - अब चल रही है बयानों की फुलझड़िया

मुंबई धमाका - फिर किया राहुल बाबा ने धमाका - अब चल रही है बयानों की फुलझड़िया


१३ को मुंबई में धमाका हुआ , धमाके में निरीह जाने जानी थी गई, दर्द उसे ही होगा जिस के घर के माँ का बेटा, बहिन का भाई , पत्नी का पति समय से पहले इस दुनिया से आतंकवाद के भेंट चढ़ गया. .
सरकारी इमदाद देने घडियाली आंसू बहाने और आरोप प्रत्यारोप का दौर तीन चार दिन चलेगा और फिर खबर ख़तम. नई ब्रेकिंग  न्यूज़ आते ही मीडिया इसे भी भूल जाएगी जैसे की भ्रस्टाचार  की न्यूज़ दो तीन दिन से नज़र नहीं आ रही है .   
राहुल बाबा भी मजेदार है उन्होंने बयान क्या दिया बवाल मच गया .राहुल बाबा ने मुंबई धमाको के बाद इक बयान दिया की आतंकवादी हमले रोके नहीं जा सकते.  अब मुंबई की लोकल ट्रेन में सफ़र करने से पहले सोचना पड़ेगा की मीडिया में स्टोरी बनाने के लिए लोकल ट्रेन में जाये या नहीं या फिर मुम्बईकरो ने जम कर विरोध किया तो उलटी स्टोरी बन जाएगी. आज टीवी में राहुल बाबा की पोस्टर जलने के दृश्य देख कर तो यही लग रहा था. दो दिन पहले उनकी सुरक्षा की भेंट इक सुरक्षा कर्मी चढ़ ही गया था. अस्पताल के बाहर इस घायल सुरक्षाकर्मी  को राहुल बाबा की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों ने काफी देर तक राहुल बाबा की सुरक्षा के रक्षा के चलते अन्दर नहीं आने दिया था. और वो चल बसा  हाँ यह समाचार तो नहीं आया की राहुल बाबा उसके भी घर सांत्वना देने गए थे. आती भी कैसे ?

राहुल बाबा ने मुंबई धमाको के बाद इक बयान दिया की आतंकवादी हमले रोके नहीं जा सकते. जैसे ही बवाल मचा मीडिया पर खबरे  आने लगी राहुल बाबा घिरने लगे तो कांग्रेस के उनके  सिपहसलार भी राग राहुल अलापने लगे. अभिषेक मनु सिंघवी की तो तारीफ करे जितनी कम उन्होंने तो कह दिया आतंकवादी तो इक बार शहीद  होता है ..... अब उनसे जरा पूछिए की आतंकवादी शहीद कैसे होता है ?  दिग्गी बाबा राहुल के बयान के साथ कैसे न होंगे वे फरमाते है पाकिस्तान में तो अक्सर  होते है हमारे यहाँ वैसे हालत तो नहीं है ना ? दिग्गी महाराज आप की मंशा आखिर है क्या आप भारत को पाकिस्तान बना कर ही दम लेंगे क्या. 

देश  के गृह मंत्री  चिदंबरम जी आपको बारम्बार प्रणाम.  आपने भी गजब ढा दिया.  सरकार की नाकामी से पल्ला झाड़ ही दिया .

देश का दुर्भाग्य की गृह मंत्री , अन्य मंत्री, कांग्रस के संत्री सभी इक ही राग अलाप रहे की इतने बड़े  देश में यह छोटी  सी घटना घट गयी तो कोई कहर नहीं आ गया.  देश के नागरिको की सुरक्षा की जिमेदारी से देश के प्रधानमंत्री गृह मंत्री अन्य लोग बच नहीं सकते यह कह कर. आत्मविश्वाश टूट जायेगा इस देश के नागरिको का ओर आक्रोश में बदल गया तो न जाने क्या होगा.

2 comments:

  1. vastav mein is desh ka sabse bada durbhagya hai is desh ke neta,nehru parivar evam is parvar ke chamche

    ReplyDelete
  2. वंशवाद और चमचागिरी की ये अंधी राजनीति देश के भविष्य को पता नहीं कहा ले जाएगी ?

    ReplyDelete